2500 रुपए की किस्त के लिए अपहरण

इंदौर के चंदननगर में 2500 रुपए की किस्त के लिए तीन लोगों ने 12वीं के दो छात्रों का अपहरण कर लिया। बजाज फाइनेंस कंपनी में नौकरी के पहले दिन रिकवरी को निकले तीन लोग एक्टिवा सहित दो छात्रों को किडनैप कर गाड़ी सहित ले जा रहे थे, लेकिन दोनों छात्र चलती गाड़ी से कूदकर भाग निकले। बाद में खुलासा हुआ कि जो गाड़ी जब्त की जा रही थी, उस पर कंपनी का कोई बकाया था ही नहीं। वह तो इंडसइंड बैंक से फाइनेंस पर थी। तीनों आरोपियों के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज किया गया है।

अपहरण को लेकर आरोपियों ने पुलिस को सफाई दी है कि रजिस्ट्रेशन नंबर गलत पढ़ने की वजह से यह सब हुआ, हालांकि मामले में गाड़ी के साथ दोनों स्टूडेंट्स को ले जाने की कहानी गले नहीं उतर रही है। पुलिस ने बताया कि गाड़ी मालिक का भांजा निखिल सोनी अपने दो दोस्तों के साथ पोहा खाने चंदननगर गया था। यहां बजाज फाइनेंस कंपनी के तीन कर्मचारी आए और तीनों दोस्तों (निखिल सोनी, राम ठाकुर और अजान खान) को पकड़ लिया। इस दौरान तीनों को जबरन गाड़ी पर बिठाया और ले जाने लगे। इस दौरान राम ठाकुर वहां से भागने में सफल हो गया, जबकि आरोपी निखिल और अजान खान को गाड़ी पर बिठाकर ले गए, हालांकि चंदन नगर में ही स्पीड ब्रेकर पर गाड़ी के स्लो होते ही ये दोनों भी भागने में सफल हो गए। गाड़ी से कूदकर भागे निखिल और अजान शहर के करोड़पति प्रॉपर्टी डीलर और प्लाईवुड व्यापारी के पुत्र हैं। गाड़ी सचिन सोनी के नाम पर है, जिसका भांजा निखिल (MP09UV2123) गाड़ी लेकर गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *