गवर्नमेंट लॉ कॉलेज मामले में कांग्रेस नेता ने की सीएम को शिकायत

पिछले कुछ दिनों से गवर्नमेंट लॉ कॉलेज का मामला गरमाया हुआ है। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व प्रदेश सचिव राकेश सिंह यादव ने इसे लेकर सीएम को शिकायत की थी। राकेश सिंह यादव ने छात्र नेताओं पर निशाना साधा था। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कॉलेज में विवादित किताब के हिस्से को लेकर कॉलेज के प्रोफेसरों को निशाना बनाने का षड्यंत्र छात्र नेताओं ने रचा, जो कॉलेज में अनैतिक रूप से एडमिशन नहीं करा पाए।

उन्होंने ये आरोप भी लगाए कि कॉलेज में पांच प्रोफेसर एवं कॉलेज के प्रिंसिपल के खिलाफ शिक्षा माफिया ने षड्यंत्र रचकर रास्ते से हटाने की कोशिश की गई। इसे षड्यंत्र के पीछे की वजह में कांग्रेस नेता ने एडमिशन का खेल होना बताया।

कांग्रेस नेता ने सीएम को लेटर लिखकर मांग की थी कि कॉलेज के सीसीटीवी फुटेज की जांच निष्पक्ष एजेंसी से कराकर यह पता करना चाहिए कि इस विवादित बुक को लाइब्रेरी में किसने खोजकर विवाद बनाने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि इस किताब से नियमित पढ़ाया भी नहीं जाता है। कांग्रेस नेता ने बताया कि उन्होंने सीएम से गृहमंत्री द्वारा सीधे एफआईआर दर्ज कराने की घोषणा के खिलाफ जांच की मांग की थी। सीएम ने कांग्रेस नेता की मांग स्वीकार करते हुए इंदौर पुलिस अधीक्षक को जांच के आदेश जारी किए हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा कि जल्दबाजी में शिक्षकों और प्रिंसिपल के खिलाफ एफआईआर के निर्देश दिए गए। जबकि बुक लिखने वाले के खिलाफ कठोर होना चाहिए। ये बुक किसने लाइब्रेरी में रखी इसकी भी जांच होना चाहिए। शिक्षकों और प्रिंसिपल का क्या दोष है इसकी भी जांच होना चाहिए, लेकिन एकतरफा पुलिस कार्रवाई के विषय में सीएम को अवगत कराया गया तो उन्होंने पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए हैं कि इस मामले की विस्तृत जांच की जाए। कांग्रेस नेता का कहना है कि जो दोषी हो उसे सजा होना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *