राहुल गांधी को लिखे लेटर पर गरमाई पॉलिटिक्स

विधायक रमेश मेंदोला के राहुल गांधी को लिखे लेटर को लेकर इंदौर में पॉलिटिक्स शुरू हो गई है। राहुल गांधी को लिखे लेटर को लेकर कांग्रेस नेता ने मैदान संभाला। उन्होंने भाजपा नेता पर निशाना साधते हुए उन्हें लेटर का जवाब भी दिया है।

दरअसल, सोमवार को विधायक रमेश मेंदोला ने राहुल गांधी को नसीहत देते हुए एक लेटर लिखा। उन्होंने अपने ट्वीटर हैंडल पर भी इसे शेयर किया। आपको बता दे कि पिछले कुछ दिनों से राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा एमपी में थी। अलग-अलग शहरों और स्थानों से होकर यात्रा गुजरी, जिसमें बड़ी संख्या में कांग्रेसजन और लोग शामिल हुए। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के राजस्थान में प्रवेश करने के साथ ही विधायक रमेश मेंदोला ने उन्हें ई-मेल के जरिए ये लेटर लिखा। इसके बाद से इंदौर में सियासी पारा चढ़ने लगा।

सोमवार को विधायक रमेश मेंदोला ने राहुल गांधी को लेकर एक लेटर लिखा। ई-मेल में लिखे इस लेटर में उन्होंने कहा कि आप 80 दिनों से नफरत छोड़ो का नारा लगा रहे हैं पर अभी तक आप अपने मन से अपनी काकीजी यानी मेनका गांधी और छोटे भाई वरुण के प्रति अपने भरी नफरत को तो निकाल नहीं पाए। आप मेनका जी के घर आशीर्वाद लीजिए तो लगेगा आपका नारा सच्चा है। इस लेटर में कई ओर भी बातें लिखी है। इस लेटर का ट्वीट भी विधायक रमेश मेंदोला ने किया था।

विधायक रमेश मेंदोला के इस लेटर पर इंदौर में राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस के प्रवक्ता विवेक खंडेलवाल ने विधायक के लेटर पर पलटवार किया है। इस पलटवार में उन्होंने विधायक पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि इंदौर में भाजपा में ही कुछ नेताओं को लेकर आपसी मतभेद है। इसे लेकर वे विधायक रमेश मेंदोला को ट्ववीट भी कर रहे है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि छोटे भाई होने के नाते बड़े भाई से निवेदन किया है कि आप सबसे पहले पुष्यमित्र भार्गव और गौरव रणदिवे को गले लगाकर अपने मन की नफरत को दूर करें। नफरत को दूर करने के लिए भाईचारे के लिए, प्रेम के लिए ही राहुल गांधी इंदौर आए थे, शायद आप उनकी भावना को नहीं समझ पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *