इंदौर में साढ़े 5 फीट का सांप पकड़ाया

King Cobra on brown sand.

अग्रवाल पब्लिक स्कूल के पीछे एक कॉलोनी में रविवार को एक कोबरा दिखा। ये लोगों को देखकर दूर होने के लिए ड्रेनेज के ढक्कन में जाने लगा, तभी ढक्कन के अंदर फंस गया। वह न तो आगे बढ़ पा रहा था, न ही पीछे। उसकी हालत देख लोगों ने स्नेक कैचर महेंद्र श्रीवास्तव (स्नेक रेस्क्यू करने वाले) को बुलाया। कैचर ने ड्रेनेज के ढक्कन को बाहर निकाला तो कोबरा फन से थोड़ा नीचे के हिस्से में फंसा हुआ था। उन्होंने अपनी जान जोखिम में डालकर कोबरा की जान बचाई। फंसने के कारण कोबरा काफी फुफकार रहा था। स्नेक कैचर ने पहले उसके मुंह पर कपड़ा डाला, ताकि वह शांत हो जाए, क्योंकि ऐसी स्थिति में सांप काफी गुस्से में होते और हमला करते हैं।

कोबरा के शांत होने पर उन्होंने उसे पकड़ा और धीरे-धीरे बाहर निकाला। इसमें करीब सवा घंटे का वक्त लगा। लोगों ने कोबरा को दूर छोड़ने का कहा मगर जब महेंद्र ने उसकी हालत देखी तो उन्हें पता चला कि फंसने से कोबरा घायल हो गया, इसलिए वे उसे अपने साथ घर ले आए।

महेंद्र ने कोबरा के घायल होने की बात उन्होंने वेटनरी डॉक्टरों से भी की। इसके बाद उन्होंने उसे अपने ऑब्जर्वेशन में रखा। उसे थोड़ी देर धूप में रखा। महेंद्र ने बताया कि कोबरा की चोट ज्यादा गंभीर नहीं थी, इसलिए उसे ऑब्जर्वेशन में रखा, उसकी लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। अब उसकी हालत में सुधार है और जहां उसे चोट थी वह धीरे-धीरे ठीक हो रही है। उसे कुछ दिनों तक ऑब्जर्वेशन में रखने के बाद रिलीज कर देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *