गैंगस्टर का नाम लेकर परिवार सहित मारने की दे रहे थे धमकी

इंटीरियर डिजाइनर करुणा शर्मा आत्महत्या मामले में सुसाइड नोट, पति के बयान और सीसीटीवी फुटेज व पुरानी शिकायतों के आधार पर लगभग स्पष्ट हो गया है कि करुणा को उन दबंगों द्वारा धमकाया जा रहा था, जिनके कारण वह बीसी और फंड के मामले में उलझी थी। आत्महत्या के चार दिन बाद भी अभी पुलिस ने किसी के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की है। हालांकि अफसरों का कहना है कि हाई प्रोफाइल मामला होने से गहराई से पड़ताल की जा रही है।

सूत्र बताते हैं कि उसे कॉल करके आदित्य अग्रवाल और प्रमिला के पति बिल्डर हेमंत अत्रीवाल द्वारा धमकाया जाता था। तीन रिकॉर्डिंग भी परिजन ने पुलिस को दी है, जिसमें करुणा को हत्या कर जमीन में गाड़ देने, कई गैंगस्टर का जिक्र कर परिवार सहित खत्म कर देने की धमकियां दी गई हैं। अपार्टमेंट के लोगों ने भी अपने बयान में धमकाए जाने की बातें कही हैं। एडिशनल डीसीपी राजेश व्यास और लसूड़िया टीआई ने फिर कहा है कि साक्ष्यों के आधार पर आत्महत्या के लिए उकसाने वालों पर केस दर्ज होगा।

सुसाइड नोट में मोना शर्मा, प्रमिला अत्रीवाल, कृष्णा सोनी और आदित्य अग्रवाल के नामों का जिक्र है कि ये मेरी मौत के जिम्मेदार हैं। नोट लिखने और सुसाइड करने वाला वीडियो भी पुलिस जब्त कर चुकी है। बावजूद इसके आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज करने में लेटलतीफी हो रही है। इंदौर में कई प्रकरण ऐसे हैं, जिनमें आत्महत्या के मामले में परिजन के बयान और सुसाइड नोट को ही आधार बनाया गया था।

सुसाइड नोट में मोना शर्मा, प्रमिला अत्रीवाल, कृष्णा सोनी और आदित्य अग्रवाल के नामों का जिक्र है कि ये मेरी मौत के जिम्मेदार हैं। नोट लिखने और सुसाइड करने वाला वीडियो भी पुलिस जब्त कर चुकी है। बावजूद इसके आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज करने में लेटलतीफी हो रही है। इंदौर में कई प्रकरण ऐसे हैं, जिनमें आत्महत्या के मामले में परिजन के बयान और सुसाइड नोट को ही आधार बनाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *