हिंदू लड़की के साथ संबंध बना लो तो जन्नत नसीब होती है: अफजल

मेरी उम्र 19 साल है। अभी B.com फर्स्ट ईयर में हूं। मैंने परिवार की मर्जी के खिलाफ जाकर एक साल पहले लव मैरिज की। आर्थिंक तंगी से गुजर रही थी तो मैंने मई में जॉब के लिए इंस्टाग्राम पर रिज्यूम शेयर किया था, तभी मुझसे एक युवक ने चैट पर जॉब ऑफर किया। उसने अपना नाम अरबाज बताया। अरबाज से जून महीने में विजय नगर के मेघदूत गार्डन में मिली थी। मुझसे कहा, प्रिंस और अफजल से मिल लो। वो तुम्हारा काम करवा देंगे। अरबाज ने कहा, तुम्हारी बेसिक सैलरी साढ़े आठ हजार रुपए रहेगी। टारगेट जितना ज्यादा करोगी, उसका इंसेंटिव भी उतना ही ज्यादा मिलता जाएगा। मुझे 90 हजार रुपए तक सैलरी पहुंचाने की बात कही। टारगेट का सुनकर लगा मुझे फील्ड जॉब करना होगी। तब मैंने अरबाज से कहा, मैं गर्भवती हूं, भागदौड़ नहीं कर सकती। उसने भरोसा दिलाया केवल कॉलिंग करना है। मैं उसकी बातों में आ गई।

अरबाज ने मुझे 23 जुलाई को रिज्यूम बनवाने के लिए कॉल कर भंवरकुआं बुलाया। यहां उसने मुझे अफजल से मिलवाया। अफजल ने कहा- रिज्यूम बनाकर देना। जॉब पक्की हो जाएगी। इसके बाद मेरा मोबाइल नंबर मांगा, बोला- ऑफिस पहुंचकर कॉल करता हूं। कुछ देर बाद अफजल के मैसेज आने लगे। मुझसे कहने लगा- तुम्हें लाइक करता हूं, मेरी गर्लफ्रेंड बन जाओ। इसके बाद मैंने उससे बात करना ही बंद कर दिया।

एक माह बाद प्रिंस नाम के युवक का मैसेज आया। उसने कहा मेरे यहां रिक्वायरमेंट है। उसने मुझे तत्काल मिलने के लिए ऑफिस बुलाया, पर मैं नहीं गई। वह मुझसे इंस्टाग्राम पर जॉब की बात करता रहा। अफजल प्रिंस का परिचित निकला। प्रिंस ने कहा कि दोनों के बीच सेटलमेंट करा दूंगा।

प्रिंस ने मुझे 14 सितंबर को नौकरी की बात करने के लिए रीगल तिराहे पर मिलने बुलाया। मैं वहां पहुंची तो उसके साथ उसके साथ सैयद, अफजल और अरबाज भी थे। तीनों कार में बैठे समोसा खा रहे थे। मुझे भी समोसा ऑफर किया। मैंने मना किया तो जबरदस्ती खिलाया। समोसा खाते ही मुझे चक्कर आने लगे। मुझे केवल इतना याद है कार में तीनों में से किसी एक ने ड्राइविंग सीट पर बैठे सैयद को कार बढ़ाने के लिए कहा। मुझे घबराहट हो रही थी। कुछ ही देर में मैं बेहोश हो गई। वे मुझे कौन से रास्ते से कहां ले गए मुझे नहीं पता। जब मुझे होश आया तो मैं एक सूने घर में थी। मैं चल नहीं पा रही थी। सभी मेरे आसपास थे। मुझे पकड़कर अंदर ले जा रहे थे।

अफजल और प्रिंस मुझे कमरे में ले गए। अरबाज और सैयद बाहर बातें कर रहे थे। अफजल और प्रिंस कमरे में ही 15 से 20 मिनट तक रुके रहे। वे अपने मुताबिक काम करने का कहने लगे। वे मुझसे जबरदस्ती कर रहे थे। मैं बहुत रो रही थी। कहा कि मैं प्रेग्नेंट हूं। अफजल हंस-हंसकर कहने लगा हमारे धर्म में यह सब चलता है। हिंदू लड़की के साथ संबंध बना लो तो जन्नत नसीब होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *