मालवा-निमाड़ में मुसलमानों को भड़का रहा था PFI

जब चूड़ी वाले का साथ किसी ने नहीं दिया। तब हमारे संगठन SDPI (PFI की पॉलिटिकल विंग मानी जाती है) ने चूड़ी वाले तस्लीम की मदद की। हर महीने उसके परिवार तक 10 हजार रुपए पहुंचाए।

चूड़ी वाले तस्लीम को समझौता कराने वाले भी बजरंगी ही हैं। पहले जेल भिजवाया, फिर समझौता कराया ताकि चुनाव में फायदा उठा सकें।

यह दोनों बयान हैं PFI के इंदौर शहर अध्यक्ष मुमताज कुरैशी के। ये बयान उन्होंने नगरीय निकाय चुनाव के वक्त इंदौर में दिए थे। वे PFI की पॉलिटिकल विंग कही जाने वाली SDPI पार्टी के जनरल सेक्रेटरी भी हैं और पार्टी के पक्ष में बार-बार चूड़ी वाले की पिटाई का मुद्दा उठाया। मप्र निकाय चुनाव में मुस्लिम बस्तियों में लगातार सभाएं कीं और पूरे चुनाव में कौम से वोट मांगे थे।

राजबाड़ा के पास तंजिम बिल्डिंग में तीसरी मंजिल पर PFI का ऑफिस है। NIA ने मुमताज कुरैशी (आजाद नगर) , प्रदेशाध्यक्ष अब्दुल करीम बेकरीवाला (जूना रिसाला) और मोहम्मद जावेद बेलिम (अहिल्या पलटन) को गिरफ्तार किया है। इन तीनों की बैठक इसी ऑफिस में थी। हिरासत में लेने के बाद पुलिस जब्ती के लिए इसी ऑफिस में देर रात पहुंची और सुबह रवाना हो गई। यहां पर अंदर देखने पर कुछ कुर्सियां लगी मिलीं। भारत का एक नक्शा सामने लटक रहा था। सामान बिखरा पड़ा मिला। दावा किया गया है कि इस ऑफिस में कैमरे नहीं थे, यही वजह है कि एक्टिविटी पता करने के लिए आसपास के कैमरों का रिकॉर्ड एनआईए ले गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *