वाहनों के रजिस्ट्रेशन की नई व्यवस्था शुरू

वाहनों के रजिस्ट्रेशन की नई व्यवस्था सोमवार से शुरू हो गई। अब वाहनों का रजिस्ट्रेशन डीलर ही करेंगे। नई व्यवस्था के पहले दिन ही डीलरों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। कभी स्लो सर्वर तो कभी इंश्योरेंस, ट्रेड सर्टिफिकेट आदि की परेशानी आई। 53 में से महज 5 वाहनों के रजिस्ट्रेशन ही हो पाए। इनमें दो टू व्हीलर जबकि तीन कार शामिल हैं। वैसे आम दिनों में 400 से ज्यादा वाहन प्रतिदिन रजिस्टर्ड होते हैं।

इधर, डीलरों की परेशानी को लेकर परिवहन विभाग के अधिकारियों ने मुख्यालय में भी संपर्क किया। नई व्यवस्था जब शुरू हुई तो डीलरों को खासी परेशानी आई। एक डीलर ने कहा कि सर्वर काफी स्लो है। रजिस्ट्रेशन की आधी प्रक्रिया करने के बाद नए सिरे से उन्हें सबकुछ करना पड़ा। इसी तरह पेमेंट नहीं होने, इंश्योरेंस आदि की दिक्कतें भी आईं। जिन पांच डीलरों ने वाहनों के रजिस्ट्रेशन किए, उन्हें कम से कम डेढ़ घंटे का समय लगा।

आरटीओ जितेंद्रसिंह रघुवंशी ने कहा वाहन सॉफ्टवेयर की नई व्यवस्थाएं सोमवार से शुरू हुईं। पहले दिन 5 वाहनों के रजिस्ट्रेशन नई प्रक्रिया से हुए। डीलरों को जो परेशानी आ रही है, परिवहन मुख्यालय से उसका निराकरण करवाएंगे। सात डीलरों ने लॉगइन-पासवर्ड लिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.