दुल्हन की उम्र 16 और दूल्हे की 20 वर्ष

बाल विवाह विरोधी दस्ते की शिकायत पर दूल्हे, उसके जीजा और पंडित के खिलाफ केस दर्ज किया है। बाल विवाह विरोधी उड़नदस्ता पुलिस को लेकर कार्रवाई करने पहुंचा था। बताया जाता है कि दस्ते के पहुंचने के पहले विवाह हो चुका था।

पुलिस के मुताबिक बाल विवाह विरोधी उड़नदस्ता प्रभारी महेंद्र पाठक को खजराना में होने वाले बाल विवाह की सूचना मिली थी। जब टीम यहां पहुंची तो मौके पर ताला लगा था। इस पर आसपास के लोगों से दूल्हे अरविंद चौहान की जानकारी ली गई। पड़ोसियों ने बताया कि अरविंद की शादी कुछ घंटे पहले ही हो चुकी है। उसकी शादी बर्फानी धाम के पास श्रद्धा श्री कॉलोनी के पास होने की जानकारी दी गई। यहां टीम मौके पर पहुंची तो टेंट भी लगा हुआ था।

टीम ने दूल्हे और उसके परिजनों के बारे में जानकारी मांगी। वहीं अरविंद का आयु का प्रमाण मांगा गया तो परिजनों ने दूल्हा-दुल्हन के आधार कार्ड सौंप दिए। आधार कार्ड के आधार पर दुल्हन की उम्र 16 और दूल्हे की 20 वर्ष होना पता चला। दोनों की आयु विवाह योग्य नहीं होने पर टीम ने उन्हें साथ लिया और विजयनगर थाने पहुंचे।

दूल्हा-दुल्हन पहले कर चुके थे लव मैरिज
चाइल्ड लाइन जैसे ही दूल्हा-दुल्हन को लेकर विजयनगर थाने पहुंची तो पता चला कि कुछ समय पहले दुल्हन के परिजनों ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने दुल्हन को ढूंढ़कर परिजनों को सौंप दिया था। हालांकि इस दौरान अजय ने दुल्हन से लव मैरिज कर ली थी। हालांकि दोनों के लौटने के बाद अरविंद के जीजा महेश चौहान ने दोनों के परिजनों को राजी करके करके शादी करा दी।

पंडित ने कहा मुझे धोखे में रखा
FIR के बाद पंडित मिश्रा ने पुलिस को बताया कि दोनों की शादी उन्होंने ही कराई है। किंतु शादी से पहले जब युवक-युवती के उम्र के दस्तावेज मांगे तो मुझे कहा कि दोनों ही बालिग हैं। उनके पास उम्र का कोई प्रमाण नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.