सद्गुरु एक जुनूनी बाइकर हैं

‘सेव सॉइल’ कैंपेन के तहत मध्यप्रदेश आए सद्गुरु जग्गी वासुदेव बाइक लवर हैं। एडवेंचर बाइक्स उनका पैशन है। वे गुरुवार को भोपाल में थे। यहां से महेश्वर रवाना हुए। एक बार सद्गुरु ने बाबा रामदेव को इटैलियन बाइक Ducati Scrambler Desert Sled पर राइड दी और इससे पहले उनसे बोले- दोनों हाथ मत छोड़ना। खुद बाबा रामदेव ने यह किस्सा सुनाते हुए कहा था- मैं गुरुजी के साथ बाइक पर पीछे बैठा हुआ था। मैंने एक बार हाथ छोड़ा तो थोड़ा पीछे हुआ, इसके बाद मैंने गुरु जी को कसकर पकड़े रखा…।

सद्गुरु जग्गी वासुदेव आध्यात्मिक और योग गुरु और ईशा फाउंडेशन के फाउंडर हैं। वह एक जुनूनी बाइकर हैं और यंग एज से ही बाइक ट्रिप पर जाया करते थे। तब उनके कलेक्शन में Yezdi 350 शामिल थी, जो अपने वक्त की पावरफुल बाइक थी। अपनी एक स्पीच में उन्होंने कहा था- बाइक्स उनका जुनून है। सद्गुरु भोपाल में BMW K 1600 मॉडल की बाइक लेकर आए। इसकी कीमत 20 लाख से ज्यादा है। वजन 350 किलोग्राम है।

एक इंटरव्यू में सद्गुरु ने कहा था- मैंने 12 साल की उम्र में पिता की स्कूटर चलाना सीख ली थी। 18 की उम्र में लाइसेंस मिल गया था। पिता से कहा करता था- मैं उनका स्कूटर इस शर्त पर साफ कर दूंगा कि उन्हें मुझे चाबी देनी होगी। पिछले कुछ साल से मुझे कारों में बैठने में परेशानी हो रही है। जहां भी संभव हो, मैं बाइक की सवारी करना पसंद करता हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.