शराब ठेकेदार अर्जुन ठाकुर पर फायरिंग मामले में चौंकाने वाली जानकारी

इंदौर के विजयनगर में शराब ठेकेदार अर्जुन ठाकुर पर फायरिंग मामले में चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। गोलीकांड का मकसद छोटे ठेकेदारों को डराना था, ताकि वे डर जाएं और अपना हिस्सा न मांगे। इंदौर में छोटे-बड़े 32 ठेकेदारों ने मिलकर 980 करोड़ में शराब दुकानों का ठेका लिया है। इसमें 30% हिस्सा छोटे ठेकेदारों का है। बड़े ठेकेदार मुनाफा नहीं देना चाहते हैं, इसलिए सिंडिकेट पर कब्जा करने के लिए गैंगवार की स्थिति बनी है।

घटना के बाद फरियादी के बयानों के आधार पर पुलिस ने आरोपियों पर 10 हजार का इनाम घोषित किया है। आरोपियों के अवैध संपत्तियों की जानकारी भी निकाली जा रही है। पुलिस पूरी घटना के साक्ष्य जुटाने में लगी है, वहीं आरोपियों की धरपकड़ के लिए टीमें रवाना हो चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *