मैं जिस वक्त मुख्यमंत्री था, उस समय कई लोगों के चेहरे उजागर कर सकता था।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर FIR दर्ज होने के विरोध में मंगलवार को कई कांग्रेस नेता और विधायक DIG से मिलने पहुंचे थे। जहां पर भास्कर संवाददाता ने प्रदेश के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा से प्रदेश में हनीट्रैप और कमलनाथ के बयान के बाद आए राजीनीति भूचाल को लेकर चर्चा की। वही कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ दर्ज की गई FIR के मुद्दे पर भी चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि कमलनाथ के बयान को आपने सही ढंग से सुना नहीं। उन्होंने कहा था कि मैं जिस वक्त मुख्यमंत्री था, उस समय कई लोगों के चेहरे उजागर कर सकता था।

सज्जन सिंह वर्मा का कहना था कि कहीं ना कहीं अफसरशाही प्रदेश में हावी है। प्रदेश में अफसर केवल भाजपा नेताओं के इशारे पर काम कर रहे है। सोमवार को भाजपा द्वारा पूरे प्रदेश में 28 जगह पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का पुतला जलाया था लेकिन उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। सज्जन वर्मा का कहना था कि भोपाल में उमंग सिंगार पर जो मामला दर्ज किया गया वह भाजपा के इशारे पर किया गया। मामले की जांच किए बिना ही तुरंत FIR दर्ज कर दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *