नकली सेल्स टैक्स ऑफिसर बनकर ठगी करने की कोशिश में तीन गिरफ्तार

आरोपियों ने इंदौर से परचून भरकर धार के लिए जाने वाले पिकअप को रोक कर ड्राइवर से दो लाख रुपए मांगे। नहीं देने पर आरोपियों ने उनके अपहरण की भी कोशिश की। ड्राइवर ने सूझबूझ दिखाते हुए गाड़ी पुलिस चौकी में खड़ी कर दी, तो आरोपी भागने लगे। इस पर पुलिस ने तीन लोगों को दबोच लिया है, जबकि एक आरोपी भाग गया।

इंदौर के रहने वाले सचिन ने पुलिस को बताया कि वह मेहुल शुक्ला का पिकअप पर क्लीनर है। गाड़ी का ड्राइवर कृष्णा है। शुक्रवार दोपहर दोनों इंदौर से परचून का सामान लेकर धार के लिए रवाना हुए। बीच में घाटा बिल्लौद ब्रिज के पास इनोवा कार खड़ी थी। गाड़ी के बाहर खड़े दो लोगों ने उन्हें रोक लिया। दो लोग गाड़ी के अंदर बैठे थे। उन्होंने खुद को सेल्स टैक्स ऑफिसर बताया।

आरोपियों ने दोनों को गाड़ी से उतार लिया। इसके बाद बिल्टी और अन्य दस्तावेज मांगे। कहा कि कार्रवाई से बचना है, तो दो लाख रुपए देने पड़ेंगे। कृष्णा ने मना कर दिया। इस पर उन्होंने कार्रवाई के नाम पर कहा कि तुम्हें ऑफिस चलना पड़ेगा। इतना कहकर सचिन को अपने साथ गाड़ी में बैठा लिया। कृष्णा को गाड़ी उनके पीछे-पीछे लाने के लिए कहा।

इस बीच कृष्णा ने गाड़ी मालिक मेहुल शुक्ला को घटना की जानकारी दे दी। मेहुल ने भी बेटमा थाने पर शिकायत कर दी। कुछ दूर चलने पर सुनसान जगह पर आरोपियों ने दोबारा गाड़ी रोक ली। यहां भी पैसे मांगे। कृष्णा ने पैसे नहीं देने की बात कहते हुए थाने जाने के लिए कहा। इसके बाद सचिन को लेकर वह गाड़ी में बैठा और थोड़ी दूर पर मौजूद चौकी में गाड़ी खड़ी कर दी। इधर, थाने से सूचना मिलने के बाद पुलिस भी अलर्ट मोड पर थी। यहां पहुंचकर पुलिस को सारी बात बता दी।

पूछताछ में आरोपियों ने अपना नाम रोहित सोनी, सागर वर्मा, अनूप जैन बताया। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि उनका चौथा साथी संस्कार फरार है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ वसूली, अपहरण और धोखाधड़ी की धाराओं में केस दर्ज किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *