टैक्स नहीं भरने की चेतावनी के पश्चात नगर निगम ने व्यापारियों की सुध ली।

इंदौर के राजबाड़ा और उसके आस-पास की सड़कों पर फुटपाथ, दुकानदारों, ठेले वालों व फेरी वालों द्वारा कब्जा कर कारोबार करने के मामले में नया खुलासा हुआ है। व्यापारियों द्वारा टैक्स नहीं भरने की चेतावनी दी गई थी। इसके बाद अंतत: नगर निगम ने व्यापारियों की सुध ले ली। इसके पीछे परदे की कहानी कुछ और ही है। राजबाड़ा और उसके आसपास के 12 से ज्यादा व्यापारिक संगठन इस मामले में लगातार गुहार कर रहे थे, लेकिन निगम ने एक-दो बार कार्रवाई के बाद कोई एक्शन नहीं लिया।

दूसरी ओर राजबाड़ा और उसके आसपास 432 ऐसे ठिए हैं। जहां ठेकेदारी प्रथा है। यानी गुंडे, नेता समर्थकों ने सड़कों पर 5X5 फीट के ठियों पर सालों से कब्जा कर फुटपाथ व्यवसायियों, ठेले वालों आदि को 400 रुपए से लेकर 1 हजार रुपए प्रतिदिन के किराए पर दिए हुए हैं। ये प्रभावशाली लोग कभी कार्रवाई नहीं होने देते। इस बीच एक ऐसे ही सौदा संबंधी ऑडियो मुख्यमंत्री के नजदीकी रहे व्यक्ति के पास पहुंची तो मामला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के संज्ञान में आया। फिर वहां से निर्देश मिलते ही अधिकारियों ने व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारियों को बुलाया व मुनादी कराई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *