ग्लैमर की दुनिया में अभी सबसे विवादित चेहरा

पिछले दो सालों में कंगना रनोट ने जितनी सुर्खियां बटोरी हैं वो काम से ज्यादा विवादों से जुड़ी रही हैं। NRC-CCA से लेकर किसान आंदोलन और फिर बंगाल चुनाव के बाद हुई हिंसा। कंगना ने अपनी बेबाक राय रखी, लेकिन, इसका खासा खामियाजा कंट्रोवर्सी क्वीन को भुगतना पड़ा। कभी कंगना की झोली में कई ब्रांड्स के एंडोर्समेंट्स थे, लेकिन अब लगभग न के बराबर हैं। एक तरह से कहा जाए तो ब्रांड कंगना की वैल्यू ग्लैमर की दुनिया में डाउनफॉल पर है।

4 नेशनल अवॉर्ड और पद्म पुरस्कार पाने वाली कंगना ने अपने काम से सभी को हर बार चौंकाया है, लेकिन बाजार के जानकारों का मानना है कि उनकी ब्रांड वैल्यू में आई गिरावट का कारण भी वो खुद ही हैं। उनके हर मुद्दे पर बेबाक बयानबाजी और इंडस्ट्री के लोगों के खिलाफ हो जाना इसका एक कारण है। इस कारण ज्यादातर ब्रांड्स ने उनसे रिश्ता तोड़ लिया।

रफ एंड टफ भी, सौंदर्य और फैशन की देवी भी
कंगना ने जितने अलग-अलग तरह के किरदार निभाए हैं, वैसी ही विविधता उनके द्वारा एन्डोर्स की गई ब्रांड में भी देखने को मिली। रिबॉक शूज की ब्रांड में उनकी रफ एंड टफ इमेज नजर आती थी, तो नक्षत्र ज्वेलरी में वह सौंदर्य की मूर्ति लगी थीं। आस्क मी ग्रोसरी के एड में वह ‘गर्ल नेक्स्ट डोर’ वाली इमेज में भाती थीं, तो टाइटन I+ में अपनी फैशन चॉइस फ्लॉन्ट करती नजर आई थीं।

लिवॉन सिरप और बजाज ऑमंड ड्राप तेल से से अपने बालों को भी सहलाती थीं, तो स्वच्छ भारत अभियान में लक्ष्मी जी के स्वरूप में लोगों को अपने आसपास की जगह को स्वच्छ रखने का महत्व भी जताती थीं। इसके अलावा कंगना वॉयला ज्वेलरी, वेरो मोडा फैशन ब्रांड, लो मेन पीजी थ्री, मिंत्रा और हिमाचल प्रदेश टूरिज्म के लिए भी एंडोर्समेंट करती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *