इंदौर में दंगे की साजिश

दंगे भड़काने की साजिश के संबंध में खुफिया विभाग को एक सूचना मिली थी। कुछ भड़काऊ संदेश कुछ ग्रुप में प्रसारित किए जा रहे हैं। इस इनपुट के बाद पुलिस ने सोशल मीडिया पर सक्रियता बढ़ाई और मॉनिटरिंग तेज कर दी। पुलिस को जानकारी मिली थी कि एक इलाके में कुछ लोगों का एक वॉट्सऐप ग्रुप है, जो लगातार अन्य लोगों को भड़काने का काम कर रहा है। पिछले दिनों लोगों द्वारा सेंट्रल कोतवली थाने का घेराव कर रानीपुरा क्षेत्र में हंगामा किया गया था। इसके बाद पुलिस ने अपनी कार्रवाई तेज कर दी थी।

पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर आरोपियों में इरफान, अल्तमस, सैय्यद और जावेद को पहले हिरासत में लिया और पूछताछ शुरू की। पूछताछ में पुलिस को कई अहम जानकारियां मिलीं। इस दौरान आरोपियों की मोबाइल को खंगाला गया तो गोरिल्ला तकनीक से दंगा भड़काने की जानकारी मिली। आरोपियों ने बताया कि उनके निशाने पर हिंदूवादी रैली और संगठन थे, वह इन्हें निशाना बनाकर ही दंगे भड़काना चाहते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *