इंदौर पुलिस की वेबसाइट हैकिंग मामले में चौंकाने वाला खुलासा

वेबसाइट हैक करने वाले ने पुलिस को सिर्फ चुनौती देने के उद्देश्य से ऐसा किया था। मामले में मोहम्मद बिलाल नाम के व्यक्ति का नाम सामने आया है। इससे पहले कुछ दिन पहले महू में पकड़ी गईं दो संदिग्ध युवतियों के समय भी बिलाल का नाम सामने आया था। हालांकि, सीधे तौर पर पुलिस यह बात नहीं स्वीकार कर रही है, लेकिन अधिकारियों का मानना है कि संभवत: यह वही व्यक्ति हो सकता है।

इंदौर पुलिस की सरकारी वेबसाइट हैक कर ली गई थी। एक्सपर्ट्स ने इसे 6 घंटे में वापस रिकवर कर लिया। हैकर्स ने एडिशनल एसपी जोन 2 के सभी अधिकारियों के नाम के आगे हैक्ड बाय मोहम्मद बिल्ला फ्री कश्मीर और पाकिस्तान जिंदाबाद लिखा था। प्रदेश के DGP और IG इंदौर की प्रोफाइल की जगह तिरंगे झंडे को गलत तरीके से लगाया था। इस घटना के बाद हड़कंप मच गया था।

खास है, दो माह पूर्व महू में इंटेलिजेंस द्वारा दो बहनों पर पाकिस्तान से कनेक्शन की संभावनाएं सामने आई थी। उस वक्त भी तफ्तीश में मोहम्मद बिलाल खान का नाम सामने आया था। संभावना है, वेबसाइट को हैक कर आरोपी द्वारा पुलिस को खुला चैलेंज दिया गया है। आईजी हरिनारायण चारी मिश्र ने बताया, सीधे तौर पर यह नहीं कह सकते है कि यह वही युवक है, लेकिन फिर भी संभावना जताई जा रही है कि मोहम्मद बिलाल खान वह व्यक्ति हो सकता है।

माना जा रहा है कि शख्स ने महू के मामले में पुलिस को चुनौती देने के उद्देश्य से ऐसा किया था। हालांकि पुलिस की वेबसाइट को नुकसान नहीं पहुंचाया है। मामले में जिस आईपी एड्रेस से हैकिंग की गई थी, उसका आईपी एड्रेस पुलिस को मिल चुका है। वहीं, सूत्रों की मानें तो जो आईपी एड्रेस ट्रक हुआ है, वह संभवतः दुश्मन देश का हो सकता है, लेकिन इस बारे में अधिकृत जानकारी नहीं मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *