इंदौर को 5 हजार करोड़ से ज्यादा का नुकसान

कोरोना की दूसरी लहर ने आर्थिक नगरी इंदौर को पूरी तरह से सुस्त कर दिया है। कारोबार के लिए मशहूर इस शहर के बाजार दस अप्रैल से 31 मई तक पूरी तरह से बंद रहे। यानी पिछले 50 दिनों तक यह लॉक ही रहा। इससे 5 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान हुआ है। फाॅर्मा को छोड़कर हर सेक्टर को नुकसान हुआ है। वैसे तो यहां सामान्य दिनों में एक दिन में डेढ़ सौ से 200 करोड़ तक का कारोबार होता है। त्योहारी सीजन में यह आंकड़ा और बढ़ जाता है।

कपड़ा, रियल एस्टेट, आटोमोबाइल सहित सभी प्रकार के कारोबार यहां पर प्रभावित हुए हैं। फार्मा को छोड़ दें तो किसी भी सेक्टर ने इस दौरान खुलकर व्यापार नहीं किया है। दैनिक भास्कर ने इंदौर के फेमस मार्केट शीतला माता बाजार सहित पूरे कपड़ा बाजार का जायजा लिया तो यहां व्यापारियों का दर्द सामने आया। उन्होंने बताया कि अकेले शीतला माता बाजार में ही 100 करोड़ से ज्यादा का व्यापार प्रभावित हुआ है। वहीं, इंदौर के कपड़ा बाजार की बात करें तो यह आंकड़ा साढ़े 300 करोड़ से ज्यादा का हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *